बोर्ड की रिजल्ट पालिसी बदलने की तैयारी


बीएड की शर्त हटाने पर अड़ गए प्रवक्ता
स्कूल प्रवक्ता संघ ने उठाई मांग 
• आभार :अमर उजाला ब्यूरो
रोहडू। राज्य स्कूल प्रवक्ता संघ वर्ष 2008 में नियमित हुए प्रवक्ताओं पर से बीएड की शर्त हटाने पर अड़ गया है। संघ ने आठ वर्ष का कार्यकाल पूरा कर चुके पैरा अध्यापकों तथा प्राध्यापकों को नियमित करने की मांग भी की है। 
संघ के प्रदेश संयुक्त सचिव सुभाष संघेल, कार्यकारिणी सदस्य देश राज नारटा, मनमोहन ठाकुर, संजीव शर्मा, नीम चंद झिंगटा, सुरेश चौहान, त्रिलोक ठाकुर, भगवान सिंह बाल्टू तथा रणधीर राथटा ने बताया कि जिन कांट्रेक्ट प्रवक्ताओं को वर्ष 2008 में सरकार ने नियमित किया था। इन प्रवक्ताओं को बीएड से छूट देने की मांग संघ उठा रहा है। 
शिक्षा विभाग की गलती से एक ही बैच के प्रवक्ताआें के साथ बीएड की शर्त पर भेदभाव हो रहा है। उन्होंने मांग उठाई कि 8 वर्षों का कार्यकाल पूरा कर चुके पैरा अध्यापक तथा प्राध्यापकों को नियमित करने की प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए। ताकि अध्यापकों और प्राध्यापकों को सही समय पर विभागीय लाभ मिल सके। 
उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने स्कूली प्रवक्ताओं का ग्रेड-पे 4400 से बढ़ाकर 5400 किया है। इस बढ़े हुए ग्रेड पे का लाभ हिमाचल के स्कूल प्रवक्ताओं को भी मिलेगा। 
इस उपलब्धि के लिए संघ के प्रदेशाध्यक्ष डा. नरोतम ठाकुर का भी योगदान रहा है। 
डा. नरोतम ठाकुर की अध्यक्षता में संघ का प्रतिनिधि मंडल पंजाब के स्कूली प्रवक्ताओं के साथ मिलकर पंजाब के मुख्यमंत्री से मिला था। जिस पर कार्यवाही करते हुए पंजाब ने ग्रेड पे बढ़ा दिया है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि पंजाब के तर्ज पर हिमाचल में भी स्कूली प्रवक्ताओं को बढ़ा हुआ ग्रेड-पे शीघ्र दिया जाए। 
संघ को उम्मीद है कि सरकार इन मांगों पर अमल करके इस वर्ग को राहत प्रदान करेगी। 



बोर्ड की रिजल्ट पालिसी बदलने की तैयारी


शिमला। प्रदेश शिक्षा विभाग ने बोर्ड की परीक्षाओं की रिजल्ट पालिसी को ढीला करने की तैयारी शुरू कर दी है। विभागीय स्तर से इसका प्रस्ताव तैयार कर सरकार के पास मंजूरी के लिए भेजा जाना है। विभाग पहले की तर्ज 25 फीसदी से कम रिजल्ट देने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई करने का प्रस्ताव फिर से तैयार कर रहा है। वर्तमान में बोर्ड परीक्षाओं में बोर्ड के रिजल्ट का 50 फीसदी से कम रिजल्ट देने वालों पर कार्रवाई का प्रावधान है। चालू वर्ष में नई नीति के तहत एक हजार से ज्यादा स्कूलों पर कार्रवाई करने की प्रक्रिया चल रही है। वर्तमान में विभाग ने कम रिजल्ट देने वाले स्कूलों की सूची तैयार कर इंक्वायरी शाखा को भेज दी है। 

सूत्र बताते हैं कि उच्च शिक्षा विभाग में उपनिदेशकों की बैठक में रिजल्ट पालिसी में राहत देने के मुद्दे पर चरचा हुई थी। अब विभाग ने इसी बैठक के आधार पर सरकार को पालिसी में ढील देने का प्रस्ताव सरकार को भेजने का फैसला लिया है। शीघ्र ही इसका प्रस्ताव तैयार किया जाना है। इसमें स्कूल में पच्चीस फीसदी से कम रिजल्ट देने वाले शिक्षकों पर ही कार्रवाई का प्रावधान होगा, हालांकि वर्तमान में विभाग बोर्ड के रिजल्ट का विषय में पचास फीसदी रिजल्ट न देने वाले स्कूलों पर कार्रवाई कर रहा है। विभाग का तर्क है कि नई पालिसी में कई मद ऐसे हैं, जिन्हें निकाल कर कम रिजल्ट देने वालों को अलग करना काफी मुश्किल हो सकता है। इसके साथ ही यह पालिसी पहले के मुकाबले सख्त है, हालांकि शिक्षक पढ़ाई के अलावा अन्य कार्यों में भी व्यस्त रहते हैं। 

निदेशक उच्च शिक्षा ओपी शर्मा ने बताया कि बैठक में उठी मांग के आधार पर सरकार के पास प्रस्ताव भेजा जाना है। 
•शिक्षा विभाग शीघ्र सरकार को भेजेगा प्रस्ताव 
•25 फीसदी रिजल्ट आने पर होगी कार्रवाई 
•अभी 50 फीसदी वालों पर भी होती है कार्रवाई 
•पालिसी के तहत 1000 से ज्यादा स्कूल दायरे में




ओंकार को चीफ पैट्रन बनाया
प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ की कार्यकारिणी घोषित 
अमर उजाला ब्यूरो
मंडी। प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ के नवनिर्वाचित प्रदेशाध्यक्ष नरोतम ठाकुर और महासचिव राजेंद्र ठाकुर ने राज्य कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है। कार्यकारिणी में चीफ पैट्रन ओंकार शर्मा, पैट्रन भोपाल सिंह, डा. गिरधारी सिंह ठाकुर, निरंजन शर्मा, डा. देश राज शर्मा, हरदेव कनवार, डा. अरविंद, रूप सिंह शर्मा एवं स्वरूप सिंह पठानिया को चुना गया है। मुख्य सलाहकार कृष्ण चंद, सलाहकार डा. मोहिंदर ठाकुर, दलीप सिंह, डीपी शर्मा, राजेंद्र शर्मा, अंबोज कौशल, विपन माहिल, सुनील बन्याल एवं नरेंद्र, कानूनी सलाहकार एसके शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेंद्र कौंडल, भूपेंद्र ठाकुर, गिरीश धरवाल, प्रकाश चंद एवं गोपी चंद डोगरा, उपाध्यक्ष सबीर मोहम्मद, राजेश वैद्य, रमेश विजलवानी, मोहिंदर वर्मा, सुरेंद्र शर्मा एवं रमेश चौधरी, कोष सचिव राजगीर सिंह, मुख्य संगठन सचिव पंकज कुमार, संगठन सचिव सुरजीत ठाकुर, दिनेश डोगरा, विकास कुमार, अजय कुमार एवं तेजिंदर सिंह, संयुक्त सचिव सुरेश पठानिया, राजेश शर्मा, रणवीर सिंह, राकेश, धीरेंद्र पठानिया, सुरेंद्र कुमार, सुभाष सहगल, मुख्य हैडक्वार्टर सचिव संजय देष्टा, मुख्य प्रेस सचिव रणवीर ठाकुर, प्रेस सचिव ललित ठाकुर, राम गोपाल, चमन कपूर, अनिल डोगरा, हरीश चौधरी, मोहन लाल, मोहिंदर गोपाल एवं राधे श्याम, वैब सचिव नरेश ठाकुर, सचिव कुलदीप, चंद्र कांत, प्रकाश पाल, अश्वनी राणा, इंद्र सिंह, विरेंद्र चड्डा, रमेश नेगी एवं प्रशांत, मुख्य कोषाध्यक्ष कुलदीप चंद तथा कोषाध्यक्ष रवि कांत, जगदीश कुमार, गुरबच्चन सिंह, सुरेंद्र सिंह मनकोटिया, लेख राज एवं देवी चंद को चुना गया है। 




पंजाब के साथ मिलकर लड़ेंगे लेक्चरर
मंडी — प्रदेश स्कूल प्रवक्ता संघ ग्रेड-पे और पे-बैंड को लेकर पड़ोसी राज्य पंजाब की लेक्चरर एसोसिएशन के साथ मिलकर जंग लड़ेगा। साथ ही प्रवक्ताओं को एक ही कार्य सौंपने का मामला प्रमुखता से सरकार व विभाग के समक्ष उठाया जाएगा। इसके अलावा संघ ने दो टूक कहा है कि अनुबंध और पीजीटी सभी प्रवक्ता मात्र जमा एक और दो कक्षाएं ही पढ़ाएंगे। संघ के संयुक्त महासचिव सुरेश पठानिया ने मंगलवार को जारी एक प्रेस बयान में उक्त जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि संघ के प्रधान डा. नरोत्तम ठाकुर और महासचिव राजेंद्र ठाकुर ने मंगलवार को राज्य कार्यकारिणी का गठन भी कर दिया है। इसके अलावा संघ ने स्टेट एक्शन कमेटी, जोनल एक्शन कमेटी नोर्थ जोन (कांगड़ा-चंबा) , बेस्ट जोन ऊना-हमीरपुर, साउथ जोन बिलासपुर, कुल्लू तथा लाहुल-स्पीति की एक्शन कमेटी गठित की गई है। साथ ही संघ ने लीगल एक्शन कमेटी, संपर्क एडिटोरियल, वूमेन एग्जीक्यूटिव कमेटी का गठन किया है। सुरेश पठानिया ने बताया कि ओंकार वर्मा को चीफ पैट्रन तथा भोपाल सिंह, गिरधारी सिंह, निरंजन, देशराज, हरदेव कंवर, डा. अरविंद, रूप लाल शर्मा, स्वरूप पठानिया को पैट्रन बनाया गया है। कृष्ण चंद मुख्य सलाहकार, मोहिंद्र ठाकुर, दलीप ठाकुर, डीपी शर्मा, राजेंद्र शर्मा, अंबोज कौशल, विपिन, सुनील बन्याल तथा नरेंद्र को सलाकार का कार्य सौंपा गया है। एसके शर्मा संघ के कानूनी सलाहकार होंगे। कार्यकारिणी में सुरेंद्र कौंडल, भूपेंद्र ठाकुर, गिरीश, प्रकाश तथा गोपी चंद को वरिष्ठ उपप्रधान, सवीर मोहम्मद, राजेश वैद्य, रमेश, मोहिंद्र वर्मा, सुरेंद्र शर्मा तथा रमेश चौधरी को उपप्रधान, डा. राजगीर सिंह को सचिव, पंकज कुमार को मुख्य प्रबंध सचिव, सुरजीत ठाकुर, दिनेश डोगरा, विकास कुमार, अजय कंबोज व तेजेंद्र सिंह को प्रबंधकीय सचिव, राजेश शर्मा, रणवीर सिंह, राकेश कानूनगो, धीरेंद्र पठानिया, सुरेंद्र कुमार ठाकुर तथा सुभाष को संयुक्त सचिव, संजय को सचिव हैड क्वार्टर, रणवीर ठाकुर को मुख्य प्रेस सचिव तथा ललित ठाकुर, डा. राम गोपाल, चमन कपूर, अनिल डोगरा, हरीश चौधरी, मोहन लाल, मोहिंद्र गोपाल तथा राधे श्याम को प्रेस सचिव बनाया गया है। नरेश ठाकुर संघ वेब सचिव होंगे। इसके अलावा कुलदीप चंद्रकांत, प्रकाश पाल, अश्वनी राणा, डा. इंद्र सिंह, वीरेंद्र चड्डा, रमेश नेगी व प्रशांत सचिव तथा कुलदीप चंद चीफ ऑडिटर का दायित्व सौंपा गया है।
शिक्षकों ने पदनाम बदलने पर जताया रोष
मनाली — हिमाचल प्रदेश स्कूल प्राध्यापक संघ जिला कुल्लू के पदाधिकारी एवं प्राध्यापक नेता इकाई के प्रधान भीम कटोच की अध्यक्षता में शिक्षा निदेशक उच्च डाक्टर ओपी शर्मा से मिले। उन्होंने मांग पत्र सौंपते हुए निदेशक से प्राध्यापक के पदनाम को प्राध्यापक से बदलकर पीजीटी करने का विरोध जताया। प्रेस सचिव मोहन ठाकुर ने बताया कि निदेशक ने मांग पत्र पर साहनुभूति के साथ विचार करने का आश्वासन दिया तथा संघ के भविष्य की चिंता व्यक्त की। उन्होंने बताया कि कालेज कैडर की भर्ती में 25 प्रतिशत पदों को पात्र स्कूल प्राध्यापक से भरा जाने की म ांग भी रखी। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि इस प्रकार की भर्ती किसी भी प्रकार के यूजीसी नियमों के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा कि अनुबंध प्राध्यापकों को 12 आकस्मिक अवकाश के साथ-साथ अन्य प्रकार के अवकाश भी प्राप्त हों, जो अन्य स्थायी प्राध्यापकों को प्राप्त हैं। उन्होंने कहा कि टीजीटी प्रर्याप्त मात्रा में है, तो अनुबंध प्राध्यापकों को छह से 10 तक की कक्षा न दी जाए। उन्होंने कहा कि प्राध्यापकों के नियमितीकरण का कार्य भी अनियमित है, जिसमें भी तेजी लाई जाए।
November 15th, 2011


सीधी भर्ती से नियुक्त होंगे स्कूल प्रिंसिपल
अमर उजाला ब्यूरो शिमला।
हिमाचल में सीनियर सेकेंडरी स्कूल प्रिंसिपल पद के लिए भी सीधी भरती कोटा तय हो सकता है। शिक्षक संगठनों की मांग के आधार पर उच्च शिक्षा विभाग ने इस बारे में एक प्रस्ताव बनाया है। इस प्रस्ताव में 20 फीसदी पद सीधी भरती के लिए रखे गए हैं। इस पर सभी शिक्षक संगठनों से राय मांगी गई है। गौरतलब है कि हेडमास्टरों की सीधी भरती के खिलाफ हाल ही में निदेशालय का घेराव तक हो चुका है। सूत्र बताते हैं कि सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में प्रिंसिपल पद के लिए 20 फीसदी कोटा प्रस्तावित है। प्रस्ताव है कि हेडमास्टर कोटे से 40 फीसदी, लेक्चरर कोटे से भी 40 और 20 फीसदी पद सीधी भरती से भरे जाएं। हालांकि, इसके लिए विभाग को भरती एवं पदोन्नति नियम बदलने होंगे, जिसकी प्रक्रिया लंबी है। उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक ओपी शर्मा ने कहा कि इस बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया है। कुछ शिक्षक इसकी मांग कर रहे हैं।
सरकार के फैसले से प्रवक्ता संघ खुश
शिमला — प्रदेश स्कूल प्रवक्ता संघ के राज्य संगठन सचिव परम देव शर्मा ने कहा कि प्रवक्ता वर्ग काफी लंबे समय से प्रधानाचार्य की सीधी भर्ती के लिए प्रयासरत है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की है कि संघ के वर्तमान राज्याध्यक्ष नरोत्तम ठाकुर के नेतृत्व में संघ सभी मांगों पर गंभीर है और सरकार के समक्ष प्रवक्ताओं की हर मांग को मजबूती से उठा रहा है। उन्होंने भर्ती की तैयारी का स्वागत करने के साथ यह भी मांग की है कि सरकार एवं विभाग किसी भी प्रकार के मसौदे को अंतिम रूप देने से पूर्व प्रवक्ता संघ के साथ बैठक कर ही निर्णय लें। उन्होंने कहा कि इसमें कम से कम 10 वर्ष का सरकारी सेवा का अनुभव हिमाचल में होना चाहिए।