स्कूल प्रवक्ता संघ ने उठाई मांग


बीएड की शर्त हटाने पर अड़ गए प्रवक्ता
स्कूल प्रवक्ता संघ ने उठाई मांग 
• आभार :अमर उजाला ब्यूरो
रोहडू। राज्य स्कूल प्रवक्ता संघ वर्ष 2008 में नियमित हुए प्रवक्ताओं पर से बीएड की शर्त हटाने पर अड़ गया है। संघ ने आठ वर्ष का कार्यकाल पूरा कर चुके पैरा अध्यापकों तथा प्राध्यापकों को नियमित करने की मांग भी की है। 
संघ के प्रदेश संयुक्त सचिव सुभाष संघेल, कार्यकारिणी सदस्य देश राज नारटा, मनमोहन ठाकुर, संजीव शर्मा, नीम चंद झिंगटा, सुरेश चौहान, त्रिलोक ठाकुर, भगवान सिंह बाल्टू तथा रणधीर राथटा ने बताया कि जिन कांट्रेक्ट प्रवक्ताओं को वर्ष 2008 में सरकार ने नियमित किया था। इन प्रवक्ताओं को बीएड से छूट देने की मांग संघ उठा रहा है। 
शिक्षा विभाग की गलती से एक ही बैच के प्रवक्ताआें के साथ बीएड की शर्त पर भेदभाव हो रहा है। उन्होंने मांग उठाई कि 8 वर्षों का कार्यकाल पूरा कर चुके पैरा अध्यापक तथा प्राध्यापकों को नियमित करने की प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए। ताकि अध्यापकों और प्राध्यापकों को सही समय पर विभागीय लाभ मिल सके। 
उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने स्कूली प्रवक्ताओं का ग्रेड-पे 4400 से बढ़ाकर 5400 किया है। इस बढ़े हुए ग्रेड पे का लाभ हिमाचल के स्कूल प्रवक्ताओं को भी मिलेगा। 
इस उपलब्धि के लिए संघ के प्रदेशाध्यक्ष डा. नरोतम ठाकुर का भी योगदान रहा है। 
डा. नरोतम ठाकुर की अध्यक्षता में संघ का प्रतिनिधि मंडल पंजाब के स्कूली प्रवक्ताओं के साथ मिलकर पंजाब के मुख्यमंत्री से मिला था। जिस पर कार्यवाही करते हुए पंजाब ने ग्रेड पे बढ़ा दिया है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि पंजाब के तर्ज पर हिमाचल में भी स्कूली प्रवक्ताओं को बढ़ा हुआ ग्रेड-पे शीघ्र दिया जाए। 
संघ को उम्मीद है कि सरकार इन मांगों पर अमल करके इस वर्ग को राहत प्रदान करेगी।


आभार :अमर उजाला ब्यूरो

वेतन बढ़ोतरी की दी बधाई 
सोलन । हिमाचल प्रदेश प्राध्यापक संघ ने प्रदेश के सभी प्राध्यापकों को पंजाब के समान पेय ग्रेड होने पर बधाई दी है। संघ के महासचिव पंकज कुमार ने कहा कि डा. नरोत्तम ठाकुर के प्रवक्ता संघ के अध्यक्ष बनते ही स्कूल प्रवक्ता संघ के साथ हुई वेतन विसंगति को दूर करने का प्राथमिकता के आधार पर लिया तथा अंत में स्कूल प्राध्यापकों के दबाव के चलते सरकार ने स्कूल प्रवक्ताओं को ग्रेड पेय बढ़ा दिया। पहले स्कूल प्रवक्ताओं तथा कालेज प्रोफेसरों को मूल वेतन बराबर होता था लेकिन वर्तमान में इसमें काफी अंतर आ गया था लेकिन इस पेय ग्रेड बढ़ने के साथ अब यह अंतर काफी कम हो जाएगा। 
उन्होंने कहा कि अब प्रवक्ताओं, मुख्य अध्यापकों तथा प्रधानाचार्यों का स्केल बराबर कर दिया गया है। संघ स्कूल प्राध्यापकों के हितों के लिए लड़ी गई इस लड़ाई की सबसे बड़ी जीत मानता है तथा इस जीत के लिए सभी प्रवक्ताओं को बधाई देता है। इस जीत से प्राध्यापकों को मनोबल बढ़ेगा। प्रवक्ता संघ के अध्यक्ष डा. नरोत्तम ठाकुर ने प्रदेश के सभी प्रवक्ताओं को पेय ग्रेड की बढ़ोत्तरी के लिए बधाई देते हुए कहा कि वह प्रवक्ता संघ के हितों को सुरक्षित रखेंगे।